Follow by Email

Advertisment

February 11, 2017

लालकेश्वर टू परमेश्वर: तीन साल, तीन प्रकरण और तीन चेहरे जिन्होंने बिहार को किया 'बदनाम'

लालकेश्वर टू परमेश्वर: तीन साल, तीन प्रकरण और तीन चेहरे जिन्होंने बिहार को किया 'बदनाम'
____________________________________
एसएससी की परीक्षा का पर्चा लीक होने के बाद से बिहार में एक बार फिर से परीक्षा और शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े होने लगे हैं. इंटर टॉपर्स स्कैम के बाद हाल के दिनों में यह दूसरा मौका है जब राज्य में होने वाली किसी भी परीक्षा में फर्जीवाड़े की बात व्यापक पैमाने पर सामने आयी है. 
विदेश तक पहुंची थी परीक्षा में नकल की तस्वीरें

बिहार में परीक्षा में नकल करने या कराने की बात कोई नई नहीं है लेकिन परीक्षा में नकल की एक तस्वीर कुछ इस कदर वायरल हुई थी कि ये सात समंदर पार यानि विदेश तक जा पहुंची थी. तस्वीर थी बिहार के वैशाली जिले की जहां 2015 में हुई मैट्रिक की परीक्षा में खुलेआम नक़ल कराने के लिये कुछ लोग स्पाइडर मैन की तरह स्कूल की बिल्डिंग से लेकर खिड़कियों तक से चिपक गये थे. 2015 में परीक्षा के दौरान ही सोशल मीडिया से लेकर दुनियाभर में वायरल हुई इस फोटो की वजह से बिहार बोर्ड के साथ-साथ परीक्षार्थियों की भी काफी बदनामी हुई और खूब मजाक भी बना था.
इंटर टॉपर्स स्कैम और 'प्रॉडिकल साइंस' गर्ल रूबी
2015 में वायरल हुई नकल की तस्वीर के बाद अभी सुधार की गुंजाईश की बातें सरकार करती इससे पहले ही एक और घोटाले ने बिहार को फिर से सुर्खियों में ला दिया. हम बात कर रहे हैं 2016 में हुए इंटर टॉपर घोटाले की. इंटर आर्ट्स और साइंस के रिजल्ट में बिहार के वैशाली के एक ही कॉलेज से कई टॉपर निकले.
एक टीवी चैनल ने इसके बाद साइंस टॉपर सौरभ और आर्ट्स टॉपर रूबी राय का इंटरव्यू किया जो स्टिंग की तरह काम कर गया किया. वीडियो फुटेज में आर्ट्स टॉपर रूबी राय पॉलिटिकल साइंस को प्रॉडिकल साइंस कहती हुई सुनी गईं तो सौरभ को साइंस का बेसिक नॉलेज तक नहीं थी. इसके बाद जो हुआ उसने इन दोनों टॉपर्स को सलाखों के पीछे भेजा तो कई सफेदपोश और शिक्षाविद भी एसी दफ्तरों से जेल के कमरे तक जा पहुंचे.
बिहार एसएससी पर्चा लीक
2015 और 2016 के बाद 2017 यानि तीन साल में लगातार तीसरी बार फिर से बिहार की किरकिरी हुई. इस बार कारण बना एसएससी की परीक्षा. परीक्षा में हुए पर्चा लीक के प्रकरण से सरकार इस तरह बैकफुट पर आ गई कि उसे परीक्षा तक को रद्द करना पड़ा. राज्य में 13 हजार कर्मचारियों की भर्ती के लिये ली जाने वाली परीक्षा में एक के बाद एक कर के जिस तरह से खुलासे हुए उससे अब तक 9 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. 29 जनवरी और 5 फरवरी को पर्चा लीक होने के बाद परीक्षा रद्द हुई तो लालकेश्वर के बाद एक और ईश्वर यान परमेश्वर राम इस घोटाले के किंगपिन के रूप में सामने आया जो कि फिलहाल सलाखों के पीछे है.
लालकेश्वर के बाद अब परमेश्वर
2016 में हुए इंटर टॉपर घोटाले में बिहार बोर्ड के पूर्व डायरेक्टर लालकेश्वर प्रसाद का नाम सामने आया तो इस बार यानि बिहार एसएससी की परीक्षा के पर्चा लीक मामले में परमेश्वर किंगपिन निकला. इंटर टॉपर्स स्कैम में बोर्ड के अध्यक्ष लालकेश्वर ने राज खोले तो कई सफेदपोश सलाखों के पीछे जा पहुंचे. अब एसएसएसी की परीक्षा में हुई गड़बड़ी के बाद आयोग के सचिव परमेश्वर राम की गिरफ्तारी हुई है तो कई बड़े और छिपे राज खुलने की उम्मीद है.

No comments:

Post a Comment